रातोरात टैक्सी ड्राईवर बना करोडपति

  भारत के रहने वाले  टैक्सी ड्राइवर और उसके दोस्तों को दुबई में 40 करोड़ की लॉटरी लगी

dubai lottery jacpot , taxi driver 20 million lottery winning, taxi driver 40 crore lottery

37 साल के रंजीत सोमराजन 2008 में केरल के कोल्लम जिले से  दुबई गए थे जॉब के लिए । उन्होंने वहा  एक टैक्सी ड्राइवर के रूप में अपना  करियर शुरू किया, और 13 साल की कड़ी मेहनत के बाद, एक प्राइवेट कंपनी में 3,500 दिरहम (71,200 रुपये) पगार में नया काम शुरू करने वाला थे।


लेकिन शनिवार को सोमराजन और उसके नौ दोस्तों की किस्मत चमक गयी और एक ही झटके में सभी लोग करोड़पति हो गए।


सोमराजन ने पैसे मिलाकर अबू धाबी इंटरनेशनल  एअरपोर्ट द्वारा आयोजित एक मासिक रैफल, अबू धाबी बिग लाटरी टिकट खरीदा था। उसके दोस्तों में पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका के नौ दोस्तों शामिल थे।


जब 500 दिरहम (10,160 रुपये) की कीमत पर खरीदा गया जैकपोट टिकट नंबर 349886 निकाला गया, तो उनको 20 मिलियन दिरहम (40.64 करोड़ रुपये) का जैकपोट लग गया।


पिछले तीन सालो  से टिकट खरीद रहे सोमराजन ने कहा कि उन्होंने लॉटरी की इस घोषणा को लाइव तब सुना जब वह अपनी पत्नी और बेटे के साथ एक मस्जिद से गुजर रहे थे।


उन्होंने खलीज टाइम्स को बताया, मैंने दुबई टैक्सी और अलग अलग  कंपनियों के साथ ड्राइवर के रूप में काम किया है। पिछले साल, मैंने एक कंपनी में ड्राइवर-कम-सेल्समैन के रूप में काम किया था, और मेरी पत्नी एक होटल में काम करती है।


सोमराजन ने  कहा, मैं अपने जीवन में सुधार के उद्देश्य से टिकट खरीदता था। मैं हमेशा अपना खुद का व्यवसाय शुरू करना चाहता था। अब मैं अपने परिवार से सलाह लूंगा और और ये तय करूँगा  कि लॉटरी के मिले पैसे को कैसे खर्च करना है।


ईनाम में मिलने वाले पैसे  उनके  दोस्तों के साथ बांटा  जायेगा , जिसमे हर दोस्त को 2 मिलियन दिरहम (4.06 करोड़ रुपये) मिलेंगे। सोमराजन और उनके अलग अलग देशो में रहने वाले दोस्तों ने मिलकर ये जैकपोट टिकेट ख़रीदा था.सब मिलकर  10 दोस्त  हैं। अन्य एक होटल की वैलेट पार्किंग में काम करते हैं। उन लोगोने  अब्यू टू के तहत टिकट ख़रीदा था  और उनको एक मुफ्त ऑफर भी वहा से मिला था । टिकट 29 जून को मेरे नाम पर लिया गया था।